Jai Dev Jai Dev Aarti Lyrics Hindi - Jaya Kishori

SHARE

Jai Dev Jai Dev Aarti Lyrics Hindi  

Jai Dev Jai Dev Aarti Lyrics Hindi - Jaya Kishori
Jai Dev Jai Dev Aarti

Jai Dev Jai Dev Aarti Lyrics Hindi - Jaya Kishori

Jai Dev Jai Dev Aarti Lyrics in Hindi ( जय देव जय देव आरती ), this Hindi Aarti Bhajan is sung by Jaya Kishori, Lyrics is Traditional, music created by Amol Dangi.

Bhajan credits

Aarti : Jai Dev Jai Dev Lyrics

Singer : Jaya Kishori

Lyrics : Traditional

Music : Amol Dangi

Language : Marathi

Aarti Lyrics Jai Dev Jai Dev


सुखकर्ता दुःखहर्ता वार्ता विघ्नाची

नूरवी पूर्वी प्रेम कृपा जयाची

सर्वांगी सुन्दर उटी शेंदुराची

कंठी झळके माल मुक्ताफळाची

जय देव, जय देव

(जय देव, जय देव)

जय देव, जय देव जय मंगलमूर्ति

श्री मंगलमूर्ति

दर्शनमात्रे मानकामना पूर्ति

जय देव, जय देव

(जय देव, जय देव जय मंगलमूर्ति

श्री मंगलमूर्ति

दर्शनमात्रे मानकामना पूर्ति

जय देव, जय देव

जय देव, जय देव)


रत्नखचिता फरा तुझा गौरीकुमारा

चंदनाची उटी कुंकुमकेशरा

हीरेजडित मुकुट शोभतो बरा

रुणझुणती नुपुरे चरणी घागरिया

जय देव, जय देव

(जय देव, जय देव जय मंगलमूर्ति

श्री मंगलमूर्ति

दर्शनमात्रे मानकामना पूर्ति

जय देव, जय देव

जय देव, जय देव)


लंबोधर पीताम्बर फणिवर बंधना

सरळ सोंड वक्रतुंड त्रिनयना

दास रामाचा वाट पाहे सदना

संकटी पावावे निर्वाणी रक्षावे सुरवर वंदना

जय देव, जय देव

(जय देव, जय देव)

(जय देव, जय देव जय मंगलमूर्ति

श्री मंगलमूर्ति

दर्शनमात्रे मानकामना पूर्ति

जय देव, जय देव

जय देव, जय देव)


सेंदुर लाल चढायो अच्छा गजमुख को

दोंदिल लाल बिराजे सूत गौरिहार को

हाथ लिए गुड़ लड्डू साईं सुरवर को

महिमा कहे न जाय लागत हूँ पद को

जय देव, जय देव


जय जय जी गणराज विद्यासुखदाता

धन्य तुम्हारो दर्शन मेरा मत रमता

जय देव, जय देव

(जय जय जी गणराज विद्यासुखदाता

धन्य तुम्हारो दर्शन मेरा मत रमता

जय देव, जय देव

जय देव, जय देव)


अष्ठो सीधी दासी संकट को बैरी

विघ्न विनाशन मंगल मूरत अधिकारी

कोटि सूरज प्रकाश ऐसी छवि तेरी

गंडस्थल मदमस्तक झूले शशि बिहारी

जय देव, जय देव


जय जय जी गणराज विद्यासुखदाता

धन्य तुम्हारो दर्शन मेरा मत रमता

जय देव, जय देव

(जय जय जी गणराज विद्यासुखदाता

धन्य तुम्हारो दर्शन मेरा मत रमता

जय देव, जय देव

जय देव, जय देव)


भावभगत से कोई सहारा नागत आवे

संतति संपत्ति सबही भरपूर पावे

ऐसे तुम महाराज मोको अति भावे

गोसावीनंदन निशिदिन गुण गावे

जय देव, जय देव

जय जय जी गणराज विद्यासुखदाता

धन्य तुम्हारो दर्शन मेरा मत रमता

जय देव, जय देव

(जय जय जी गणराज विद्यासुखदाता

धन्य तुम्हारो दर्शन मेरा मत रमता

जय देव, जय देव

जय देव, जय देव)


जय देव, जय देव जय मंगलमूर्ति

श्री मंगलमूर्ति

दर्शनमात्रे मानकामना पूर्ति

जय देव, जय देव

जय देव, जय देव जय मंगलमूर्ति

श्री मंगलमूर्ति

दर्शनमात्रे मनकामना पूर्ति

जय देव, जय देव

(जय देव, जय देव जय मंगलमूर्ति

श्री मंगलमूर्ति

दर्शनमात्रे मनकामना पूर्ति

जय देव, जय देव

जय देव, जय देव जय मंगलमूर्ति

श्री मंगलमूर्ति

दर्शनमात्रे मनकामना पूर्ति

जय देव, जय देव

जय देव, जय देव जय मंगलमूर्ति

श्री मंगलमूर्ति

दर्शनमात्रे मनकामना पूर्ति

जय देव, जय देव

जय देव, जय देव)



BhajanHindiLyrics is one of the most popular Hindi Bhajan Lyrics websites. Here you can easily find almost  All Aarti , Mantra , Bhajan , Bhakti Songs , Stotram , Chalisa Etc Lyrics In Hindi From BhajanHindiLyrics website. 

Web Tittle : Jai Dev Jai Dev Aarti Lyrics Hindi , 

SHARE